भुजंगासन से पा सकते हैं इन बीमारियों से छुटकारा

अच्छी सेहत और बिमारियों से छुटकारा पाने के लिए योग बहुत जरूरी है। हर रोज योग करने से शरीर चुस्त रहता है और सारा दिन आप हैल्दी करते हैं। आज हम आपको बताएंगे भुजंगासन के बारे में जो कि हमारे लिए बहुत लाभदायक है। संस्कृत के शब्द भुजंग का अर्थ होता है सर्प। यानी की इस आसन में आपको सर्प की तरह अपने शरीर को आकार देना होगा।

भुजंगासन करने का तरीका

  • इस आसन को करने के लिए आप समतल जमीन पर मैट बिछाकर बैठ जाएं। इसके बाद अपनी हथेली को कंधे के समानातंर लाएं। दोनों पैरों के बीच की दुरी को कम करके पैरों को सीधा एवं तना हुआ रखें। अब सांस लेते हुए शरीर के अगले भाग को नाभि तक उठाएं। मगर इस बात का ध्यान रहे कि जब शरीर को ऊपर उठा रहे हो तो कमर में ज्यादा खिचांव ना आएं। अब इस स्थिति में धीरे-धीरे सांस लें और छोड़ें। कुछ समय के लिए एेसे करने के बाद गहरी सांस छोड़ते हुए सामान्य स्थिति में आए। शुरूआत में इस आसन को 3-4 बार करें।
  • गलत खान पान के कारण आजकल काफी लोगों में अस्थमा की प्रॉब्लम देखने को मिल रही है। इस प्रॉब्लम से छुटकारा पाने के लिए यह आसन काफी लाभदायक है। इसे करने से फेफड़ों में खिचांव आता है और फेफड़ों में ऑक्सीजन की प्रवाह बढ़ता है।
  • भुजंगासन को करने से स्लिप डिस्क की प्रॉब्लम से छुटकारा पा सकते हैं। हर रोज इस आसन को करने से आप घुटनों और कमर दर्द से भी छुटकारा पा सकते हैं।
  • गलत खान पान के कारण कई बार आपको कब्ज, अपच, गैस, एसिडिटी आदि समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस बिमारी से छुटकारा पाने के लिए भुजंगासन बहुत फायदेमंद है इसे करने से पाचन क्रिया को दुरूस्त और स्ट्रांग होती है।
Loading...