हो सकती है पथरी, भूलकर भी तरबूज की न करें ओवरईटिंग

गर्मी का सीजन शुरू हो चुका है। इस सीजन में लू और डिहाइड्रेशन से बचने के लिये गर्मी के फल जैसे- तरबूज, खरबूजा, खीरा, ककड़ी, बेल, लीची और आम आदि का इस्तेमाल करते हैं। वैसे तो गर्मी में तरबूज को हम सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। क्योंकि ये गर्मी में ठंडी का एहसास दिलाता है। इसमें अनेक बीमारियों से ना केवल लड़ने की क्षमता देता है, बल्कि उनसे बचाता भी है। तरबूज कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर और विटामिन सी, ए और बी का बहुत अच्छा स्रोत है। इसमें लोहा, कैल्शियम, मैग्नीशियम,पोटेशियम और फास्फोरस जैसे महत्वपूर्ण खनिज भी होते हैं।लेकिन क्या आप जानते हैं ज्यादा तरबूज खाने से शरीर को नुकसान भी पहुंच सकता है।

डायरिया हो सकता है

तरबूज तो ज्यादा खाने से डायरिया हो सकता है क्योंकि इसमें लाइकोपीन होता है।

हार्टबीट्स तेज होना

तरबूज में पोटैशियम होता है ज्यादा होने पर हार्टबीट्स तेज कर सकता है।

डायबिटीज

अगर पोटैशयिम रिच फूड जैसे केला, संतरा, टमाटर ज्यादा खा रहे हैं तो तरबूज कम खाएं।डायबिटीज में तरबूज एकसाथ ज्यादा खाने से ब्ल़डशुगर बढ़ जाता है।

एल्कोहल पीने वाले

एल्कोहल पीने के 12घंटे बाद तक तरबूज नहीं खाना चाहिए। ये लीवर पर प्रेशर डाल सकता है।हाई ब्लडप्रेशर की शिकायत हो तो डॉक्टर से सलाह लेकर ही खाएं।

प्रेग्नेंसी के दौरान

गर्मी से तुरंत आकर तरबूज खाना नुकसानदेह हो सकता है। उल्टी-दस्त की शिकायत हो सकती है।प्रेग्नेंस में इसे खाने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।

यह भी पढ़ें-

जानिए चक्कर आने की समस्या से कैसे करें अपना बचाव